Ram Setu का अस्तित्व है और यह मानव निर्मित है: अमेरिकी टीवी चैनल ‘साइंस’

Ram Setu

भारत और श्रीलंका के बीच बना हुआ Ram Setu प्राकृतिक नहीं है। भू-वैज्ञानिकों का दावा है कि यह मानव निर्मित है। हिन्दुओं के पौराणिक ग्रंथों में भारत-श्रीलंका को जोड़ने वाले पुल (राम सेतु, Adam’s Bridge) भारत में हमेशा ही बहस का मुद्दा रहा है। हाल ही में अमेरिकी टीवी चैनल साइंस का एक टीवी शो- ‘ऐन्सिएंट लैंड ब्रिज‘ का दावा कि रामसेतु है और यह मानव निर्मित है इन बहसों पर करारा जवाब है।

 

ऐन्सिएंट लैंड ब्रिज‘ टीवी शो अमेरिकी टीवी चैनल साइंस का एक नया कार्यक्रम है जिसका प्रोमो भी जारी किया गया है। यह शो अमेरिकी भू-वैज्ञानिकों के अनुसंधान पर आधारित है। अमेरिकी भू-वैज्ञानिकों का दावा है की रामेश्वरम के पम्बन द्वीप से श्रीलंका के मन्नार द्वीप के बीच 50 किलोमीटर लंबी श्रृंखला मानव निर्मित है। ‘ऐन्सिएंट लैंड ब्रिज‘ टीवी शो प्रोमो के मुताबिक यह अनुसंधान इंडियाना यूनिवर्सिटी नॉर्थवेस्ट, यूनिवर्सिटी ऑफ कोलोराडो बोल्डर और सदर्न ऑरेगान यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने की है। अनुसंधान में पाया गया की Ram Setu के चट्टानें 7000 साल पुरानी हैं। यह मानव निर्मित है – सैंड बार के ऊपर रखे पत्थरों को कहीं दूर से लाकर किसी ने रखा है।

 

रामायण काल 7000 साल पुरानी हैं। और ‘ऐन्सिएंट लैंड ब्रिज‘ टीवी शो राम सेतु को 7000 साल पुरानी दावा करती है। कई लोग Ram Setu के अस्तित्व को झूठ मानते हैं। उन लोगों के लिए कई सवाल जैसे ‘क्या राम थे? क्या राम अयोध्या के राजा थे? क्या लंका राज्य थे? क्या राम ने लंका पर सागर पार कर हमला किया था? क्या वानरों ने राम सेतु बनाया था?’ का यह दावा जवाब दे दिया है।

 

कांग्रेस सर्कार ने रामसेतु को तोड़ने के कार्य में युद्ध स्तर पर लग रहे थे। उनका कहना था कि राम सेतु हिन्दू धर्म का आवश्यक व अभिन्न अंग नहीं है। बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने सुप्रीम कोर्ट से Ram Setu को राष्ट्रीय धरोहर का दर्जा दिए जाने की मांग करते रहे हैं। उन्होंने इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर इसे नहीं तोड़े जाने की मांग की थी। स्वामी का कहना है कि भगवान राम ने श्रीलंका जाने के लिए राम सेतु बनाया था। उनका यह भी कहना है की राम सेतु हिंदुओं की धार्मिक आस्था से जुड़ा हुवा है। हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से Ram Setu मामले पर कहा कि राम सेतु को तोड़ना चाहते हैं या सुरक्षित रखना चाहते हैं। सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को इस पर एक हलफनामा फाइल करने को कहा।

 

सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति इरानी ने अमेरिकी टीवी चैनल साइंस का ‘ऐन्सिएंट लैंड ब्रिज‘ टीवी प्रोमो को ट्वीट करते हुए ‘जय श्री राम’ लिखा है।

 

Featured image courtesy: NBT and Ramleela

The following two tabs change content below.
manoshi sinha
Manoshi Sinha is a writer, poet, blogger, and avid heritage traveler; Author of 8 books including 'The Eighth Avatar', 'Blue Vanquisher', 'Saffron Swords'.

Comments

error: Content is protected !!
Loading...

Contact Us