भारतीय नौसेना के जनक छत्रपति शिवाजी; 5,600+ वर्षों का इतिहास

17 वीं शताब्दी में, छत्रपति शिवाजी के राज्यकाल में एक मजबूत मराठा नौसेना ने भारतीय जल सीमाओं की अनेकों विदेशी आक्रमणकारियों से सफलतापूर्वक रक्षा की। छत्रपति शिवाजी की नौसेना भलीभाँति प्रशिक्षित थी और उनके पोत तोपों से सुसज्जित थे।
शिवाजी ने अंडमान द्वीप समूह पर निगरानी चौकियों का निर्माण कराया जहां से शत्रुओं पर निगाह रखी जाती थी। मराठा नौसेना ने कई बार अंग्रेजी, डच और पुर्तगाली नौसेनाओं पर सफलतापूर्वक हमले किये और जहाज़ों पर कब्ज़ा किया।
सिद्धोजी गुर्जर, कान्होजी आंग्रे, मैनाक भंडारी और मेंढाजी भाटकर कुछ प्रमुख मराठा नौसेनानायक थे जिन्होनें अपनी वीरता और रणनीति से उस समय की बड़ी नौसेनाओं के छक्के छुड़ा दिये।
कान्होजी आंग्रे
शिवाजी ने अपनी दूरदर्शिता और रणनीति से भारतीय नौसेना के इतिहास में ऐसी छाप छोड़ी कि उन्हें आधुनिक भारतीय नौसेना का जनक कहा जाता है।
ऐतिहासिक दस्तावेज़ों और ग्रंथों में मौर्य, गुप्त और चोल राज्यों की नौसैनिक क्षमताओं और उस काल के पोतों का वर्णन है। कौटिल्य ने अपने प्रसिद्ध ग्रंथ अर्थशास्त्र में नौवहन और नौसैनिक आवश्यकताओं और महत्व पर प्रकाश डाला है।
क्या आप जानतें हैं कि भारत में नौसेना का इतिहास हज़ारों वर्ष पुराना है? ऋग्वेद में वरुण को समुद्री मार्गों और शक्ति का अधिपति माना गया है। प्राचीन ग्रंथों में मत्सय यंत्र, नौअधिपति, समुद्संमयनम, नौसेनाधिपति आदि शब्दों का अनेकों जगह उल्लेख मिलता है।

PC: Nausena Bharti

गुजरात के तटीय क्षेत्र लोथल और मंगरोल में हुई खुदाई से पता चलता है कि वहां नौवहन की परंपरा सिंधुकालीन समय से है।
क्या आप जानते हैं कि वर्तमान समय में बनने वाले अधिकाँश भारतीय नौसैनिक पोत भारत में ही बनते हैं और पूर्णतः स्वदेशी तकनीक से बने होतें हैं। भारतीय पोत निर्माण गोदियां विश्व स्तर की हैं और यहां बने पोतों की गणना विश्व के सर्वश्रेष्ठ पोतों में की जाती है।
भारतीय नौसेना विश्व की पांचवी सबसे बड़ी नौसेना है और यह आधुनिक पनडुब्बियों, मिसाइल वाहक पोतों, नवीनतम विमानों, सुरंगरोधी पोतों और विमानवाहक पोतों से सुसज्जित है। भारतीय नौसेना के दो प्रमुख नौसैनिक अड्डे मुंबई और विशाखापत्तनम में हैं।
The following two tabs change content below.
manoshi sinha
Manoshi Sinha is a writer, poet, certified astrologer, avid traveler, and author of 7 books including 'The Eighth Avatar', and 'Blue Vanquisher' - Krishn Trilogy 1 and 2 that delve on Krishn beyond myths.

Comments

About the Author

manoshi sinha
manoshi sinha
Manoshi Sinha is a writer, poet, certified astrologer, avid traveler, and author of 7 books including 'The Eighth Avatar', and 'Blue Vanquisher' - Krishn Trilogy 1 and 2 that delve on Krishn beyond myths.
error: Content is protected !!
Loading...

Contact Us