poetry


आज जिस बात पे

आज जिस बात पे खफ़ा वो हमसे हो चलें हें, क्या खबर उनको इसी बात में हम दिन-रात जलें हें ! आज जिस……….. ज़िन्दगी मुझसे गले मिलके एक बात कह गयी; तू जला है तो…


Poetry

Connecting Souls Through Poetry… Latest Poetry: O Mother of 1.3 Billion Children Seven Days Won’t Kill Us सफ़र मंजिल का स्वाधीनता – एक नये राष्ट्र निर्माण की बच्चे भारत माँ के वीर जवानों के आज़ादी…


Loading...